End of ours

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Post Views: 143 जब “मैं” और “तुम के बीच कुछ एहसास न रहे, एक दूसरे की कद्र न रहे जब मैं सिर्फ मैं दिखने लगे […]

pariwartan

परिवर्तन जरूरी क्यों?

September 27, 2017 admin 0
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Post Views: 280 मिटटी के नीचे दबा एक बीज अपने खोल में आराम से सो रहा था . उसके बाकी साथी भी अपने अपने खोल […]

कब्रिस्तान

September 27, 2017 ajay jha 0
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Post Views: 127 अँधेरी रात है इतनी अँधेरी की कुछ भी दिखाई नही दे रहा  एकदम सुनसान सी रात । चारो तरफ एक ऊँची दिवार […]

पराया धन – बेटियाँ

September 26, 2017 Dia 0
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Post Views: 150 वो नन्ही किलकारी वो पाओं में बांधे पाजेब वो नन्हें-नन्हें हाथों में छन्न छन्न करती चूड़ियाँ याद आता है वो घर आँगन […]

आत्मग्लानि

September 20, 2017 ajay jha 0
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Post Views: 265   आऊँगा कभी, तुम्हारे काँधे पर सिर रख के रोने। बेबाक़, बेसब्र, बेहिसाब रोने। हर उस ग़लतियों की माफ़ी माँगने जो की […]